Type Here to Get Search Results !

अग्निपथ योजना क्या है?

अग्निपथ योजना क्या है?

भारत सरकार ने अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) लाखो युवाओ को सेना में भर्ती के लिए अवसर देने के लिए प्रारम्भ की है। इस योजना में जो भी चुना जाता है उसे अग्निवीर कहा जाता है । इस योजना में युवाओ को 4 साल के लिए देश सेवा का मौका मिलता है। लगभग 45000 से 50000 युवाओ को हर साल इस योजना के तहत चुने जाएंगे। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, Agneepath Yojana एक परिवर्तनकारी पहल है जो सशस्त्र बलों को एक youth profile प्रदान करेगी।” इस योजना को बहुत ही जल्द लागू किया जाएगा। 
अग्निपथ योजना क्या है?
अग्निपथ योजना क्या है?


अग्निपथ योजना

 सशस्त्र बालो में शामिल होने की एक सरल प्रक्रिया है जिसमे वेतन के साथ साथ बीमा सुविधा भी दी जाएगी।
देश के तीनों सशस्त्र बलों में सैनिकों के रूप में देश की सेवा करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा “अग्निपथ योजना 2022” की शुरुआत की गई है। यह नई योजना पिछली पद्धति को बदलकर पेश की गई है। इस agneepath yojana के तहत हर साल कम से कम 46 हजार युवाओं की भर्ती की जाएगी। और ये अग्नि वीर 4 साल तक सैनिकों के रूप में काम कर सकेंगे।

अग्निपथ योजना के क्या लाभ है?

जैसा की आप जान चुके है की अग्निपथ योजना 4 वर्ष के लिए दी जाती है अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) में चयनित युवाओ को प्रथम वर्ष में 30000, द्वितीय में 33000, तृतीय वर्ष में 33000 और अंतिम चतुर्थ वर्ष में 40000 रूपये monthly सेलेरी दी जाएगी। जिसमे से हर महीने Contribution to Agniveer Corpus Fund में सेलेरी का 30 प्रतिशत हिस्सा जमा होगा जो की चार साल बाद सेवा निधि पैकज के रूप में वापस मिल जाएगा।
'अग्निपथ' योजना से पहले वर्ष में सेना, नौसेना और वायु सेना में लगभग 46,000 सैनिकों की भर्ती का रास्ता खुल गया है. युवाओं के लिए देश की सेवा करने और राष्ट्र निर्माण में योगदान करने का अनूठा अवसर. सशस्त्र बलों का प्रोफाइल युवा और गतिशील होगा. अग्निवीरों के लिए आकर्षक वित्तीय पैकेज
FAQ 
Q . 1.  क्या अग्निपथ योजना एक बढ़िया योजना है?
हाँ। एक पहलू से देखा जाए तो यह एक बढ़िया योजना है जो युवाओं के लिए देश की सेवा करने और राष्ट्र निर्माण में योगदान करने का अनूठा अवसर.प्रदान करती है
Q . 1 . देश के लिए क्यों जरूरी है 'अग्निपथ योजना'?
अग्निपथ योजना से देश को युवा शक्ति का साथ प्राप्त होगा तथा युवाओ को देश का नेतृत्व प्राप्त हो सकेंगा


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ