Type Here to Get Search Results !

note bandi kab hui thi


दुनिया में सबसे पहले नोटबंदी कहाँ हुई थी?

पहली बार साल 1946 में हुई थी नोटबंदी
देश में पहली बार नोटबंदी आजादी के पहले साल 1946 में हुई थी। भारत के वायसराय और गर्वनर जनरल सर आर्चीबाल्ड वेवेल ने 12 जनवरी 1946 को हाई करेंसी वाले बैंक नोटों को डिमोनेटाइज (Demonetisation) करने का अध्यादेश लाने का प्रस्ताव दिया था।
भारत में सबसे पहले नोटबंदी कहाँ हुई?
भारत की आजादी से पहले भी देश में नोटबंदी की गई थी. बात 1946 की है, देश में पहली बार नोटबंदी अंग्रजी हुकूमत में हुई. 12 जनवरी, 1946 को भारत के वायसराय और गवर्नर जनरल, सर आर्चीबाल्ड वेवेल ने उच्च मूल्य वाले बैंक नोट बंद करने का अध्यादेश प्रस्‍तावित किया
16 जनवरी 1978 को, जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार ने काले धन को खत्म करने के लिए 1,000 रुपये, 5,000 रुपये और 10,000 रुपये के नोटों को बंद कर दिया था.देश में पहले भी कई बार नोटबंदी हुई है। कभी 5000 और 10000 के नोट भी देश में चला करते थे।

 
note bandi kab hui thi
note bandi kab hui thi

note bandi kab hui thi
8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का ऐलान किया था. इसके तहत 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को चलने से बाहर कर दिया था. इसके बदले में 500 के नए नोट जारी किए गए थे. जबकि एक हजार का नोट बंद ही हो गया और इसकी जगह 2000 का नोट आया |

 Demonetization in India: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 19 मई 2023 को 2000 के नोट को बंद कर दिया। लोगों के पास बैंक से नोट एक्सचेंज कराने के लिए 30 सितंबर तक का समय है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ