Type Here to Get Search Results !

मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना:Kisan Mitra Yojana-2023

 मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना:Kisan Mitra Yojana-2023

इस लेख में आप मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना राजस्थान के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकेंगे कृपया मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना:Kisan Mitra Yojana-2023 लेख को पूरा अवश्य पढ़े जानने के लिये। 
:Kisan Mitra Yojana-2023
मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना:Kisan Mitra Yojana-2023


Kisan Mitra Yojanaकब शुरू हुई?

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2023 :- इस योजना को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 9 जून 2021 को आरंभ किया गया है।

वर्ष 2021-22 के बजट में की गई घोषणा
राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा वर्ष 2021-22 के बजट की घोषणा करते समय सामान्य श्रेणी के ग्रामीण कृषि उपभोक्ताओं को प्रतिमाह ₹1000 एवं प्रति वर्ष ₹12000 अनुदान राशि प्रदान करने की घोषणा की गई थी। यह घोषणा केवल उन्हीं कृषि उपभोक्ताओं के लिए की गई थी जिनका बिल मीटरिंग से आता है। इस घोषणा को ध्यान में रखते हुए विद्युत वितरण निगम द्वारा 750 करोड़ रुपए का प्रावधान टैरिफ सब्सिडी मद में भी शामिल किया गया था। यह प्रावधान अनुदान राशि हस्तांतरण के लिए निर्धारित किया गया है।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत वर्ष 2023 के बजट में की गई घोषणा

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के द्वारा सरकार के माध्यम से कृषि की खर्च को कम करने और किसानों की मदद के लिए इस योजना की शुरुआत की जा रही है। जिसके माध्यम से राज्य के किसानों को कृषि क्षेत्र में होने वाले नुकसान से बचाया जा सकता है। हमारे देश में भी, किसानों को कोरोना वायरस से होने वाले नुकसान से निजात दिलाने के लिए कई योजनाएं शुरू की जा रही हैं और इस योजना के लिए राज्य सरकार अब तक किसानों को सालाना 12 हजार रुपये का लाभ दे चुकी है, इसके आलावा इस योजना के अंतगर्त 2021-22 के बजट के तहत नाम बदलकर “मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना” कर दिया गया है। इस योजना में बजट के अंतगर्त 750 करोड़ रुपये करे गए हैं, और इससे राज्य की कृषि को मदद मिलेगी, कनेक्शन पर हर महीने एक हजार रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।

Kisan Mitra Yojanaकहा से शुरू हुई ?

Kisan Mitra Yojanaका उदेश्य क्या है ?

‘किसान मित्र’ योजना राज्य के किसानों को संगठित, सशक्त एवं सक्षम बनाने के लिए आरंभ की गई है।

किसान मित्र ऊर्जा योजना को शुरू करने के पीछे राजस्थान सरकार का उद्देश्य राज्य में किसानों की स्थिति को बेहतर बनाना है। इस योजना के माध्यम से पात्र लाभार्थी किसानों को बिजली के बिल पर हर माह अनुदान प्रदान किया जाएगा।


Kisan Mitra Yojanaआवश्यक दस्तावेज कौन -कौन से है?

किसान मित्र ऊर्जा योजना के लिए दस्तावेज
आधार कार्ड
राशन कार्ड
बैंक पासबुक
निवास प्रमाण
पहचान प्रमाण
मोबाइल नंबर
पासपोर्ट साइज फोटो
 राजस्थान सरकार ने Kisan Mitra Urja Yojana 2023 के लिए प्रतिवर्ष 1450 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया है। आज हम यहां आपको अपने इस लेख के माध्यम से मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2023 के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं।

Kisan Mitra Yojanaमें आवेदन कैसे करे ?

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें
आवेदन करने के लिए सबसे पहले ऑफिसियल वेबसाइट rajsthan.gov.in. पर जाए
अब होम पेज में आपको अप्लाई ऑनलाइन पर क्लिक करना हैं।
इसके बाद अब आपके सामने “मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना आवेदन पत्र” खुल जायेगा।
उसमे आपको अपना नाम, आधार कार्ड नंबर, आपका पता, बैंक खाता नंबर और मोबाइल नंबर अदि भरना हैं।
सभी जानकारी भरने के बाद फॉर्म को सबमिट करें।
इस प्रकार आप आसानी से राजस्थान मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2023 के लिए अपना आवेदन पत्र जमा कर सकते हैं। अधिकारियों द्वारा आपके द्वारा जमा किए गए सभी दस्तावेजों तथा आवेदन पत्र में भरे गए सभी जानकारियों का सत्यापन किया जाएगा कौन गया यदि विभाग के अधिकारियों द्वारा सभी जानकारियों सही पाई जाती हैं तो आपका नाम लाभार्थी सूची में शामिल कर दिया जाएगा। इसके लिए आपको फोन करके अथवा SMS के माध्यम से सूचित कर दिया जाएगा। योजना की अधिक जानकारी सदस्यता के लिए कृपया राजस्थान कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।

Key Highlights Of Rajasthan Kisan Mitra Urja Yojana 2023

योजना का नाममुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना
किसने आरंभ कीराजस्थान सरकार
लाभार्थीराजस्थान के कृषि
उद्देश्यबिजली के बिल पर अनुदान प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइटजल्द आरंभ की जाएगी
साल2023
आवेदन का प्रकारऑनलाइन/ऑफलाइन
राज्यराजस्थान
अनुदान राशिअधिकतम ₹1000 प्रतिमाह एवं ₹12000 प्रति वर्ष

किसान मित्र ऊर्जा योजना का उद्देश्य

राजस्थान सरकार का Kisan Mitra Urja Yojana को शुरू करने के पीछे मुख्य उद्देश्य कृषि उपभोक्ताओं को बिजली के बिलों पर प्रति माह ₹1000 की अनुदान राशि उपलब्ध करवाना है। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार राज्य के किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करें उन्हें कृषि के पथ पर अग्रसर करने का प्रयास कर रही है। इसमें देश के किसान भी शामिल हैं इसी समस्या को देखते हुए राजस्थान सरकार ने राज्य के किसानों को लाभ पहुंचाने के मुख्य उद्देश्य से इस योजना को शुरू किया है इस योजना का महत्व उद्देश्य किसानों पर बिजली के बोझ को कम करना है।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत सहायता

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत DISCOMS द्वारा पात्र कृषि उपभोक्ताओं को द्विमासिक बिलिंग प्रणाली के आधार पर बिजली बिल जारी किए जाएंगे। बिल राशि का लगभग 60% सरकार द्वारा यथानुपात आधार पर देय होगा, जो अधिकतम 1,000 रुपये प्रति माह के अधीन होगा। केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारी और आयकर दाता कृषि उपभोक्ता सब्सिडी के लिए पात्र नहीं होंगे।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत सहायता कैसे प्राप्त करें?

सभी पात्र उपभोक्ताओं को अपना आधार नंबर और बैंक खाता MMKEY से लिंक कराना होगा। अनुदान की राशि तभी देय होगी जब विद्युत वितरण कम्पनियों का उपभोक्ता के विरूद्ध बकाया न हो। बकाया राशि का भुगतान करने के बाद उपभोक्ता को आगामी बिलों पर सब्सिडी राशि देय होगी। योजना के क्रियान्वयन के माह पूर्व बकाया बिल राशि अनुदान में समायोजित नहीं की जायेगी। यदि कोई किसान कम बिजली की खपत करता है और उसका बिल 1,000 रुपये से कम है, तो वास्तविक बिल और अनुदान राशि के बीच का अंतर उसके बैंक खाते में जमा किया जाएगा।

Kisan Mitra Yojana का क्या लाभ है ?

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के माध्यम से प्रदेश के मीटर्ड किसान उपभोक्ताओं को बिजली के बिल पर अनुदान प्रदान किया जाता है। यह अनुदान राशि प्रतिमाह अधिकतम ₹1000 रुपए एवं प्रतिवर्ष अधिकतम ₹12000 रुपए है। इस योजना के अंतर्गत सभी पात्र कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत वितरण निगम द्वारा द्विमासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर बिजली का बिल जारी किया जाएगा। बिजली के बिल की 60% राशि अनुपातिक आधार पर प्रतिमाह देय होती है। यह राशि अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह होती है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ सभी किसान उपभोक्ताओं को मई 2021 से मिलना आरंभ हो जाएगा। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 1450 करोड रुपए खर्च किए जाएंगे।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2023 के लाभ तथा विशेषताएं

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 9 जून 2021 को आरंभ किया गया है।
इस योजना के माध्यम से प्रदेश के किसान उपभोक्ताओं को अनुदान प्रदान किया जाएगा। जिससे कि उन्हें बिजली के बिल का भुगतान करने में सहायता प्राप्त होगी।
यह अनुदान राशि प्रतिमाह अधिकतम ₹1000 एवं प्रतिवर्ष अधिकतम ₹12000 है।
सभी पात्र कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत वितरण निगम द्वारा इस योजना के अंतर्गत द्विमासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर बिजली का बिल जारी किया जाएगा।
इस योजना को आरंभ करने की घोषणा वर्ष 2021 के बजट में मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा की गई थी।
बिजली के बिल की 60% राशि अनुपातिक आधार पर प्रति माह देय होगी। जो कि अधिकतम ₹1000 प्रति माह होगी।
इस योजना का लाभ सभी किसान उपभोक्ता मई 2023 से उठा सकते हैं।
सरकार द्वारा इस योजना के कार्यान्वयन के लिए 1450 करोड रुपए का खर्च किया जाएगा।
इस योजना का लाभ कृषि द्वारा केवल तभी उठाया जा सकता है जब कृषि के विद्युत वितरण निगम में कोई बकाया नहीं है।
Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2023 का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अपनी आधार संख्या को बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य होगा।
यदि किसान द्वारा बकाया राशि का भुगतान कर दिया जाता है तो उस स्थिति में अनुदान राशि आगमी बिजली के बिल में देय होगी।
यदि कृषि द्वारा बिजली का कम उपयोग किया जाता है और बिल ₹1000 से कम आता है तो इस स्थिति में बिल की राशि एवं अनुदान राशि के बीच का अंतर लाभार्थी के खाते में जमा करवा दिया जाएगा।
इस योजना के माध्यम से कृषि उपभोक्ता बिजली की बचत करने के लिए भी प्रोत्साहित होंगे।
मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ केंद्र एवं राज्य सरकार के कर्मचारियों द्वारा नहीं उठाया जा सकता।
मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2023 पात्रता मानदंडकेवल राजस्थान राज्य का स्थाई निवासी ही इस Kisan Mitra Urja Yojana का लाभ प्राप्त कर सकते है।
किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक का किसान होना अनिवार्य है।
मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2023 के तहत पात्र लाभार्थी का बैंक खाता उसके आधार कार्ड के साथ लिंक होना चाहिए केवल तभी लाभ की राशि लाभार्थी के खाते में स्थानांतरित की जा सकेगी।
सभी केंद्र एवं राज्य सरकार के कर्मचारी एवं आयकर दाता इस Kisan Mitra Urja Yojana 2023 के लिए पात्र नहीं माने जाएंगे।

11.57 लाख किसानों को पहुंचा योजना का लाभ

राज्य के किसानो के लिए राजस्थान सरकार द्वारा बहुत सी योजनाएं लागू की जा रही है, किसान मित्र ऊर्जा योजना उन्ही योजनाओ में से एक है। 11.57 लाख किसानो को अब तक इस योजना के माध्यम से लाभ पहुंचाया जा चुका है, जिसके तहत सरकार ने 743.38 करोड़ रुपए का खर्च किया है। इस योजना का सुचारु रूप से संचालन होने के परिणामस्वरूप ही करीब 7.21 लाख किसानो की बिजली का बिल शून्य हो गया है, जोकि काफी उत्साह की बात है। एक टिवीट के दौरान सरकार द्वारा इस बात की जानकारी प्रदान की गई है, बहुत से किसानो को कोरोना काल के समय में काफी समस्याओ का सामना करना पड़ा था इसी बात को ध्यान में रखते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री द्वारा किसानो के हित के लिए मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का आरम्भ किया गया है। 17 जुलाई 2021 राजस्थान सरकार द्वारा इस योजना का आरम्भ किया गया है। सामान्य श्रेणी ग्रामीण के कृषि कनेक्शन उपभोक्ताओं को 12000 रुपए प्रति वर्ष का अतिरिक्त अनुदान इस योजना के तहत प्रदान किया जायेगा। जिससे किसानो को काफी लाभ होगा और वह आत्मनिर्भर बन सकेंगे।
भंवर सिंह भाटी जोकि राजस्थान के ऊर्जा मंत्री है, उनके द्वारा बताया गया है कि 24 मार्च 2022 राज्य में मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का आरम्भ किया जायेगा। जिसके अंतर्गत 1000 की छूट प्रतिमाह किसानो के बिल में प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत अब तक सरकार द्वारा 6 लाख किसानो को लाभ प्रदान किया जा चुका है। इसके साथ ही ऊर्जा मंत्री द्वारा बताया गया है कि इस साल 100 यूनिट तक बिजली का उपभोग करने वाले घरेलू विधुत उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक बिजली मुफ्त प्रदान की जाएगी, और सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट बिजली के इस्तेमाल पर 3 रुपए प्रति यूनिट का अनुदान दिया जायेगा तथा 150 से 300 यूनिट के इस्तेमाल पर 2 रुपए प्रति यूनिट अनुदान सरकार द्वारा प्रदान किया जायेगा।
विद्युत वितरण निगम में लाभार्थी के विरुद्ध बकाया
उपभोक्ता किसान द्वारा इस योजना का लाभ तब ही उठाया जा सकता है, जब लाभार्थी के विरुद्ध विद्युत वितरण निगम में किसी प्रकार का कोई बकाया नहीं है। यदि बकाया है, इस स्थिति में यदि कृषि उपभोक्ता बकाया का भुगतान कर देता है तब अनुदान राशि आगमी बिजली के बिल में देय होगी। इसके अतिरिक्त यदि उपभोक्ता किसान के द्वारा बिजली का उपयोग कम किया जाता है तथा उसका बिजली का बिल 1000 रुपए से कम आता है परंतु उपभोक्ता किसान के द्वारा जमा किया गया बकाया अधिक है इस स्थिति में बिल की राशि तथा अनुदान राशि के बीच की बची राशि लाभार्थी के खाते में जमा करवा दी जाएगी। इसके माध्यम से उपभोक्ता किसान बिजली की बचत हेतु प्रोत्साहित होगा । केंद्र एवं राज्य सरकार के कर्मचारियों द्वारा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ नहीं उठाया जा सकता। इसके अतिरिक्त इस योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु इच्छुक आवेदक आधार संख्या का खाते से लिंक होना अनिवार्य है।
FAQ :-
प्र. मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना की अनुदान राशि कितनी हे ?
ऊ.अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह एवं ₹12000 प्रति वर्ष।
प्र.मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना का उदेश्य क्या है ?
ऊ.किसानो को बिजली बिल पर अनुदान प्रदान करना। 
प्र.मुख्यमंत्री किसान मित्र योजना का पूरा नाम क्या है ?
ऊ.मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना। 
प्र.किसान मित्र ऊर्जा योजना राजस्थान हेल्पलाइन नंबर क्या है?
ऊ.किसान मित्र ऊर्जा योजना का हेल्पलाइन नंबर 1800 180 6565 है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ